भोले बाबा ने तांडव के बाद किसका का आविष्कार किया था?

    

a. माहेश्वर सूत्र
b. डमरू
c. तांडव नृत्य
d. स्तंभ

सही उत्तर : माहेश्वर सूत्र

व्याख्या

भगवान शिव (नटराज) ने तांडव नृत्य के पश्चात ऋषि मुनिओ की सिद्धि और कामना पूर्ति के लिए चौदह बार डमरू बजाया। डमरू के चौदह बार बजने से चौदह ध्वनिया प्रकट हुई जो व्याकरण का आधार बनी। इन्ही चौदह ध्वनियों को माहेश्वर सूत्र कहा जाता है।